वायरल फीवर में आयुर्वेदिक काढ़ा शरीर के बढ़ते तापमान पर लगाता है लगाम

मौसम और तापमान में आने वाले बदलाव व उतार-चढ़ाव के कारण प्रतिरोधक क्षमता पर असर पड़ता है जो वायरल फीवर का कारण बन जाता है।

वीर्य शोधन चूर्ण के इस्तेमाल से शीघ्रपतन, प्रियअंग का ढीलापन, धातु दुर्बलता, शारीरिक दुर्बलता, शुक्राणुओं की कमी, मर्दाना ताकत, कामेच्छा और काम-शक्ति की कमी (पुरुष इन्द्रिय की दुर्बलता) , वीर्य की कम मात्रा या वीर्य का पतला होना ,प्रियअंग में तनाव ना होना आदि से छुटकारा मिलता है, यह वीर्य के दूषित तत्वों को दूर करता है। इसके सेवन से स्तम्भन शक्ति बढ़ती है .
वीर्य शोधन चूर्ण जादुई व गुणकारी नुस्खा है। कम से कम 60 दिन नियमित रूप से सेवन करने पर धातु शुद्ध और पुष्ट होती है, शुक्र की वृद्धि होती है, शुक्र गाढ़ा होता है तथा स्वप्न दोष तथा शीघ्रपतन जैसी व्याधियां गायब हो जाती हैं। यह नुस्खा परीक्षित है। हानिकारक आहार-विहार का त्याग और उचित आचरण का पालन करते हुए वीर्यशोधन चूर्ण का प्रयोग करें।
https://cutt.ly/JcSL3wI

👆💯पुरुषो का वीर्य गाढ़ा करने तथा सम्भोग💯 शक्ति बढ़ाने की आयुर्वेदिक औषधि पूरे भारत घर बैठे ऑर्डर करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें💯👆
https://cutt.ly/JcSL3wI

प्रतिकात्मक तस्वीर
बारिश के बाद तेज धूप और चिलचिलाती गर्मी लोगों को बीमार कर रही है। वायरल फीवर के चलते दिल्ली-एनसीआर के ज्यादातर अस्पतालों में मरीजों की लंबी लाइन देखने को मिल रही है। मौसम के बदलने और तापमान में आने वाले बदलाव के कारण शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है, जिससे बुखार के बैक्टीरिया आसानी से शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। यह बुखार शरीर को कमजोर कर देता है जिससे कई तरह की परेशानियां आने लगती हैं। ऐसे में कुछ घरेलू उपाय इस बुखार के इफेक्ट को कम करते हुए आराम पहुंचा सकते हैं।

वायरल फीवर के लक्षण
-गले में दर्द होना
-बदन दर्द या मसल्स पेन
-खांसी आना
-सिरदर्द या त्वचा में रैशेज होना
-सर्दी-गर्मी लगना
-आंखों में जलन
-थकान महसूस होना
-तेज बुखार

डॉ नुस्खे ब्रेन प्रश् के फायदे
मानसिक तनाव घटाने
अनिद्रा को दूर करता है
घबराहट को दूर करता है
हदय को बल प्रदान करता है
दिमागी शक्ति को बढ़ाता है
बार बार भूल जाने की समस्या को भी दूर करता है
रक्त संचार को नियंत्रित करता है
नींद नहीं आनी की समस्या को दूर करता है
बार बार होने वाले सर दर्द में राहत दिलाता है
पुरे भारत डॉ नुस्खे ब्रेन प्रश् ऑर्डर करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें
https://cutt.ly/3xtLQGF

ऐसे करें बचाव
– साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें
– खांसते या छींकते वक्त रुमाल से मुंह और नाक को ढक लें
– सफाई और हैंडवॉश का खास ख्याल रखें
– खाना खाने से पहले और वॉशरूम यूज करने के बाद हाथ साबुन से अच्छी तरह से धोएं
– बारिश के मौसम में उबले हुए पानी का सेवन करें

संभोग शक्ति बढ़ाने की आयुर्वेदिक चाय Dr Nuskhe SxonT Whole leaf Tea – मर्दाना ताकत बढ़ाने की आयुर्वेदिक चाय Dr Nuskhe SxonT Whole leaf Tea ऑर्डर करने के लिए click करें https://cutt.ly/mcSLyOO

घर बैठे मर्दाना ताकत बढ़ाने की आयुर्वेदिक चाय Dr Nuskhe SxonT Whole leaf Tea ऑर्डर करने के लिए click करें

https://cutt.ly/mcSLyOO

वायरल बुखार से राहत पाने के उपाय
खूब पानी पिएं
वायरल में खूब पानी पीना चाहिए। इसके अलावा जूस और कैफीन रहित चाय का सेवन करें। ज्यादातर फलों में एंटीऑक्सिडेंट्स पाए जाते हैं, जिनका सेवन करने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है और शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकलते हैं। अगर आपको डायरिया या उल्टी की शिकायत है तो इलेक्ट्रॉल का सेवन फायदेमंद होगा। इसके अलावा, नींबू, लैमनग्रास, पुदीना, साग, शहद आदि भी फायदेमंद हो सकते हैं।

नींबू
नींबू को बीच से काट लें और फिर इस टुकड़े से पैरों के तलों पर मसाज करें। आप चाहें तो नींबू के इस कटे हुए टुकड़े को जुराबों में डालकर रातभर पहनकर रख सकते हैं।

वायरल फ्लू: बचाव के लिए क्या करें, क्या न करें

डॉ नुस्खे Kesh Arogya hair oil के फायदे
बालों का गिराना एवं असमय सफ़ेद होने से रोके
बालो में होनी वाली रूसी से बचाव
बालों को पोषण देकर जड़ो से मजबूत करे
कमज़ोर बालों को मजबूत बनाए
बालों को मुलायम करता हैं
बालों को लंबा व घना बनाता है
सिर की त्वचा का रूखापन दूर करता है
Dr नुस्खे केश आरोग्य हेयर ऑयल ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें

https://cutt.ly/WxtCFd0

लहसुन
कच्चे लहसुन के टुकड़े खाएं। आप इस पर शहद लगाकर भी खा सकते हें। इसके अलावा लहसुन की दो कलियों को दो चम्मच ऑलिव ऑयल में मिलाकर गर्म कर लें और इससे अपने पैरों के तलों में मसाज करें। फायदा होगा।

सिरका
नहाने के पानी में आधा कप सिरका मिला लें और कम से कम 10 मिनट तक उसे ऐसा ही रहने दें। इस पानी से नहाने से भी फायदा होता है। चाहें तो आलू के कुछ टुकड़ों को सिरके में डुबोकर इसे अपने माथे पर बांध लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *