अंगूर के बारे में रोचक जानकारी सुनकर आप रहे जायगे हैरान

अंगूर खाने के फायदे आयुर्वेदिक उपचार

आयुर्वेदिक नुस्खे वाले ग्रुप मे शामिल होने के लिंक पर क्लिक करें 👍🌹

https://www.facebook.com/groups/1060360464475834/?ref=share

 

नाक से खून बहने की समस्या रोकता है अंगूर (Grape Stops Nose Bleeding in Hindi)

गर्मियों के मौसम में कुछ लोगों को नाक से खून बहने की शिकायत होने लगती है। अगर आप भी इस समस्या से पीड़ित हैं तो अंगूर का रस 2-2 बूंद नाक में डालें। इससे नाक से खून बहना बंद हो जाता है।

मुंह के रोगों में लाभदायक है अंगूर (Grape Benefits for Oral Problems in Hindi) 

10 मुनक्का और 3-4 ग्राम जामुन की पत्तियां लें और पानी में उबालकर इसका काढ़ा बना लें। इससे कुल्ला करने से दांतों का दर्द ठीक होता है और मुंह की बदबू दूर होती है। कई बार अपच के कारण भी मुंह से दुर्गंध आने लगती है। इससे निजात पाने के लिए रोजाना 5-10 ग्राम मुनक्का खाएं।

थायराइड के इलाज में सहायक है अंगूर (Uses of Grapes in Thyroid Treatment in Hindi)

थायराइड के मरीजों के लिए अंगूर काफी लाभदायक है। अंगूर के 10 एमएल रस में 1 ग्राम हरड़ चूर्ण मिलाकर सुबह-शाम नियमपूर्वक पीने से थायराइड में लाभ मिलता है।

गले की जलन और सूजन दूर करता है अंगूर (Grapes Reduces Throat Inflamation in Hindi)

अगर आप गले में जलन और सूजन से परेशान हैं तो इससे बचाव के लिए अंगूर के रस से गरारे करें।

उल्टी रोकने के लिए करें अंगूर का प्रयोग (Grape Helps to Stop Vomiting in Hindi)

उल्टी रोकने के लिए 1 ग्राम मिश्री, 500 मिग्रा पीपर, 1 ग्राम मुनक्का तथा 1 ग्राम तिल को शहद के साथ सेवन करें।

सर्दी-खांसी से राहत के लिए करें अंगूर का उपयोग (Grape Benefits for Cold and Cough in Hindi)

मुनक्का और हरीतकी से निर्मित 40-60 मिली काढ़े में 10 ग्राम मिश्री और 2 चम्मच शहद मिलाकर पीने से सर्दी-खांसी  में लाभ होता है।1 ग्राम मिश्री, 500 मिग्रा पीपर, 1 ग्राम मुनक्का तथा 1 ग्राम तिल को शहद के साथ सेवन करें। इससे सर्दी-खांसी से जल्दी आराम मिलता है। अंगूर, आँवला, खजूर, पिप्पली तथा काली मिर्च, इन सबको बराबर मात्रा में लेकर पीस लें। इसके सेवन से सूखी खांसी तथा कुक्कुर खांसी में लाभ होता है।

सीने के दर्द से राहत दिलाने में लाभकारी है अंगूर (Grape Benefits for Reducing Chest Pain in Hindi)

10-10 ग्राम मुनक्का और धान की खील को 100 मिली जल में भिगो दें। 2 घंटे बाद मसल छानकर उसमें मिश्री और शहद मिलाकर सेवन करने से सीने के दर्द से आराम मिलता है।

टीबी के मरीजों के लिए अंगूर के फायदे (Uses of Grapes in Treatment of TB in Hindi)

घी, खजूर, मुनक्का, मिश्री, शहद और पिप्पली, इन सबका पेस्ट बनाकर सेवन करें। यह मिश्रण टीबी के इलाज में बहुत लाभदायक है।बराबर मात्रा में अंगूर, मिश्री एवं पिप्पली के चूर्ण (2-4 ग्राम) में तिल का तेल और शहद मिलाकर सेवन करने से टीबी रोग में लाभ होता है।

दिल के दर्द से आराम दिलाती है अंगूर (Grapes reduces Heart pain in Hindi)

दिल में दर्द होने पर अंगूर का उपयोग करना लाभदायक रहता है। दिल के दर्द से आराम पाने के लिए 3 भाग मुनक्का के गूदे में 1 भाग शहद तथा 1/2 भाग लौंग मिलाकर कुछ दिन तक इसका सेवन करें।

कब्ज़ दूर करने में अंगूर के फायदे ( Benefits of Grapes for Constipation in Hindi)

10-20 नग मुनक्कों को साफ कर, बीज निकालकर, 200 मिली दूध में अच्छे से उबाल लें। उबालने के बाद जब मुनक्के फूल जाएं तो सुबह दूध और मुनक्के का सेवन करें। इससे कब्ज की समस्या दूर होती है और मलत्याग में कठिनाई नहीं आती है।10-20 नग मुनक्का, 5 नग अंजीर, सौंफ, सनाय, अमलतास का गूदा 3-3 ग्राम तथा गुलाब के फूल 3 ग्राम, इन सबका काढ़ा बनाकर सुबह गुलकन्द मिलाकर पीने से कब्ज दूर होती है और पेट आसानी से साफ़ होता है।पेट साफ़ करने के लिए रात में सोने से पहले 10-20 नग मुनक्कों को थोड़े घी में भूनकर चुटकी भर सेंधानमक मिलाकर सेवन करें।7 नग मुनक्का, 5 नग काली मिर्च, 10 ग्राम भुना जीरा तथा 6 ग्राम सेंधानमक को मिलाकर चटनी बनाकर चाटने से कब्ज और भूख ना लगने की समस्या दूर होती है।

पेट दर्द दूर करने के लिए अंगूर का उपयोग (Grapes Helps in Reducing Stomach Pain in Hindi)

अंगूर और अडूसे का काढ़ा बनाकर 40-60 मिली मात्रा में पिलाने से उदरशूल का शमन होता है।

 

डॉ नुस्खे रोको जी के फायदे
आपके सेक् पावर को बूस्ट करता है
सेक्स ,टाइमिंग को बढ़ाता है
बिस्तर पर देर तक टिकने में मदद करता है सिर्फ एक कैप्सूल बना देगा आपके ताकत को घोड़े जैसे
डॉ नुस्खे रोको जी के फायदे
आपके सेक् पावर को बूस्ट करता है
सेक्स ,टाइमिंग को बढ़ाता है
बिस्तर पर देर तक टिकने में मदद करता है
डॉ नुस्खे रोको जी आर्डर करने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करे
डॉ नुस्खे रोको जी आर्डर करने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करे

https://www.flipkart.com/nuskhe-roko-g-men-male-power-enhancement-natural-herbal-ingredients-ayurvedic-no-side-effects-10-tablets/p/itm34831c5d9ed70?pid=AYDFXNMQYMPFMFWK&lid=LSTAYDFXNMQYMPFMFWKRPMXYL&marketplace=FLIPKART&srno=s_1_1&otracker=AS_Query_HistoryAutoSuggest_1_17_na_na_na&otracker1=AS_Query_HistoryAutoSuggest_1_17_na_na_na&fm=SEARCH&iid=0b14122e-5c13-4c19-b098-64a3f810ab54.AYDFXNMQYMPFMFWK.SEARCH&ppt=sp&ppn=sp&ssid=zaat0nzpds0000001610364575258&qH=f862b469eaa00b57 

 

💯👉यह है एक आयुर्वेदिक औषधि जो आपको बिस्तर पर देर तक टिकने में करती है मदद 💯👆
💯डॉ नुस्खे संभोगशाली पावर किट ( whatsapp – 8527878380 )💯

💯😂डॉ नुस्खे संभोगशाली पावर किट के फायदे 👍💯

लड़की से बात करती है पानी निकल जाना 💯💦
पेशाब करती टाइम धात का गिरना
वीर्य को गाढ़ा करता है
वीर्य की संख्या को बढ़ाता है
जल्दी निकल जाने की समस्या
लिंग में तनाव न आना
नाईट फॉल व शीर्घपतन की समस्या को दूर करता है
अंदर डालते ही निकल जाता है💦
मर्दाना कमजोरी को दूर करता है
सेक्स टाइमिंग को बढ़ाता है😁💪
सेक्स करने की इच्छा न करना
लिंग में टेड़ा पन
हस्तमैथुन की वजह से लिंग❤️ का आकार छोटा रह जाना
सेक्स करते वक्त, लिंग में कड़ापन ना आना, या फिर कड़ापन
आते ही तुरन्त ढीला हो जाना तथा ,,
बिस्तर पर देर तक टिकने में मदद करता है💪
आज ही पुरे भारत घर बैठे ऑर्डर करें ये आयुर्वेदिक औषधी👉💯( whatsapp – 8527878380 )

फ्री आयुर्वेदिक हेल्थ टिप्स पाने के आज ही ज्वाइन करे फ्री Whats_app के आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे वाले ग्रुप को ज्वाइन होने 💯के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें 💯👉

https://chat.whatsapp.com/KIL2nN073qp5EjDOoveiYZ

अस्थमा ( दमा), साँस की तकलीफ की आयुर्वेदिक उपचार दवाई घर बैठे प्राप्त करने के लिए Whatsapp करें या लिंक पर क्लिक करें

मोटापे का दुश्मन सत्तू-
आपको सुनकर हैरानी हो सकती है कि एक सम्पूर्ण आहार के लिए जरूरी सभी तत्व सत्तू में पाए जाते हैं. सत्तू को खाने या पीने से लम्बे समय तक व्यक्ति को भूख नहीं लगती है. जो वजन कम करने में व्यक्ति की मदद करता है.

वजन बढ़ाने की आयुर्वेदिक और हर्बल दवा ( Dr. Nuskhe Weh-On WeightGainer) घर बैठे पाने के लिए लिंक पर क्लिक करें

सत्तू से मिलती है एनर्जी-
चने के सत्तू में मिनरल्स, आयरन, मैग्नीशियम और फॉस्फोरस पाया जाता है जो आपके शरीर की थकान मिटाकर आपको इंस्टेंट एनर्जी देने का काम करता है.

3-5 किलो वज़न कम बिना डायटिंग
घर बैठे 50 दिन की 100% आयुर्वेदिक बिना साइड इफेक्ट के Dr Nuskhe Weight loss Kit ऑर्डर करने के लिए click करें

पेट को ठंडा रखकर लू से बचाता है-
सत्तू की तासीर ठंडी होने की वजह से गर्मियों में इसका सेवन करने की सलाह दी जाती है. यह पेट को ठंडा रखने में भी मदद करता है जिसकी वजह से व्यक्ति को लू नहीं लगती है. सत्तू शरीर का तापमान नियंत्रित रहता है, जिससे पेट संबंधी कई बीमारियों से बचाव होता है.

कुछ पुरषों की शादी होने वाली होती है तो कुछ किसी स्वास्थ्य प्रॉब्लम के कारण स्तम्भन दोष या लिंग के सख्त या खड़ा होने में दिक्कत महसूस करते हैं इसे आम बोलचाल की भाषा में मर्दाना कमजोरी भी कहते हैं डॉ नुस्खे काम c आयल बढती उम्र का प्रभाव, जरुरत से ज्यादा हस्तमैथुन, दिल की बीमारी, उच्च कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्त चाप, शराब का सेवन, धुम्रपान, तंबाकू का सेवन, दवाइयों का दुष्प्रभाव, मधुमेह, मोटापा, रक्तवाहिकाओं में रूकावट, मानसिक तनाव, अनिंद्र आदि कई कारण हैं जो लिंग की सेहत पर बुरा प्रभाव डालते हैं और उनकी सख्ती को ख़तम करते हैं और इसके फलसवरूप वो कमजोर और शिथिल हो जाता है|

डॉ नुस्खे काम सी ऑइल के फायदे Dr Nuskhe Kam C oil

dr nuskhe kam coil

एनीमिया से रखें दूर सत्तू-
शरीर में खून की कमी होने पर व्यक्ति एनीमिया से पीड़ित होता है.ऐसा होने पर रोजाना पानी में सत्तू मिलाकर पीने से काफी लाभ मिलता है.

#शिलाजीत के फायदे : शुद्ध शिलाजीत घर बैठे ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें मूल्य 698rs

 

ब्रैस्ट साइज बढ़ाने और स्तन टाइट करने की औषधि और मसाज ऑइल डॉ नुस्खे किट घर

बैठे आर्डर करने के लिए क्लिक करें

 

नपुंसकता, शीघ्रपतन, स्वप्नदोष,
वीर्य की कमी व गाढ़ा
करता है उतेजना और
स्तम्भन की कमी दूर होगी
धात की समस्या को दूर करता है
मर्दाना कमजोरी को दूर करता है
सेक्स टाइमिंग को बढ़ाता है
ताकत और जोश बढ़ाता है
वीर्य को गाढ़ा करता है
मर्दाना शक्ति को बढ़ाता है
उतेजना को बढ़ाता है
वीर्य को जल्दी निकलने से रोकेगा
समय में बढ़ोतरी करने में लाभदायक
तनाव न आने की समस्या को दूर करता है
शारीरिक दुर्बलता, लिंग में तनाव ना होना, घर बैठे डॉ नुस्खे Night Show kit ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें

 

 

नशा छुड़ाने की आयुर्वेदिक औषधि #G1Drop घर बैठे ऑर्डर करने के लिए click करें

नींद नहीं आने की समस्या, दिमागी कमजोरी, स्ट्रेस का आयुर्वेदिक उपचार Dr Nuskhe Brain Power kit मूल्य 1046rs घर बैठे ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक

पुरुषों के समस्त गुप्त रोगों का रामबाण आयुर्वेदिक इलाज * :
*Dr Nuskhe Kamdev Churn *

इस चमत्कारी उपाय के अद्भुत फायदे : डॉ नुस्खे कामदेव चूरण को सुबह शाम 1 ग्लास दूध के साथ 1-1 चम्मच सेवन करें

यह दवा मर्दाना कमजोरी, शीघ्रपतन, शुक्राणु की कमी, लिंग का टेढापन , सेक्स की इच्छा न करना जल्दी निकल जाना, हस्तमैथुन की वजह से,सुस्ती,इन्द्रिय का शिथिल न हो पाना , लंबे समय तक,व् वृद्ध अवस्था को रोकने इत्यादि में बहुत ही ज्यादा लाभकारी है। बचपन की गलतियों के कारण अगर आपका लिंग छोटा हो गया है या !! ये आपके वीर्य को गाढ़ा करके और ज्यादा मात्रा में बनाकर आपका सेक्स करने का टाइम बहतरीन करेगा

आपके लिंग को पत्थर की तरह मजबूत करके पूरा स्ट्रांग कर देगा इसे 18 साल से लेकर 65 साल तक कोई भी पुरुष खा सकता है। यह प्योर आयुर्वेदिक है

पूरे भारत में घर बैठे डॉ नुस्खें कामदेव चूर्ण
धातुविकार,
शीघ्रपतन,
स्वपनदोष ,
शुक्रविकार,
सेक्स में मन न लगना,
शुक्राणुओ की कमी,
धातु दुर्बलता,
शारीरिक दुर्बलता, लिंग में तनाव ना होना, घर बैठे ऑर्डर करने के लिए click करें

 

डॉ नुस्खे Kesh Arogya hair oil के फायदे
बालों का गिराना एवं असमय सफ़ेद होने से रोके
बालो में होनी वाली रूसी से बचाव
बालों को पोषण देकर जड़ो से मजबूत करे
कमज़ोर बालों को मजबूत बनाए
बालों को मुलायम करता हैं
बालों को लंबा व घना बनाता है
सिर की त्वचा का रूखापन दूर करता है

Dr नुस्खे केश आरोग्य हेयर ऑयल ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें

 

आयुर्वेदिक नुस्खे वाले ग्रुप मे शामिल होने के लिंक पर क्लिक करें 👍🌹

https://www.facebook.com/groups/1060360464475834/?ref=share

 

एसिडिटी दूर करने के लिए अंगूर का उपयोग (Uses of Grapes  to get rid of Acidity in Hindi)

दाख तथा हरड़ बराबर-बराबर लें। इसमें दोनों के बराबर शक्कर मिलाएं, सबको मिलाक्लर पीस लें। इसकी 1-1 ग्राम की गोलियां बनाकर एक-एक गोली सुबह और शाम ठंडे पानी के साथ सेवन करने से एसिडिटी से राहत मिलती है।10 ग्राम मुनक्का  और 5 ग्राम सौंफ को 100 मिली पानी में भिगो दें। सुबह इसे मसल कर छानकर पिएं, इससे एसिडिटी में आराम मिलता है।

खूनी बवासीर में अंगूर के फायदे (Grapes Benefits for Piles in Hindi) 

अंगूरों के गुच्छों को हांडी में बन्द कर भस्म बना लें। 1-2 ग्राम भस्म में बराबर मिश्री मिलाकर, 5 ग्राम गाय के घी के साथ सेवन करने से खूनी बवासीर में खून निकलना बंद हो जाता है।

पीलिया में करें अंगूर का उपयोग (Uses of Grapes in Treatment of Jaundice in Hindi)

500 ग्राम मुनक्का का पेस्ट (पत्थर पर पिसा हुआ), 2 किग्रा पुराना घी और 8 ली पानी, सबको एकसाथ मिलाकर पकाएं। पकाने के बाद जब केवल घी बच जाए तो उसे छानकर रख लें। रोजाना 3 से 10 ग्राम मात्रा में इसका सेवन करने से पीलिया में फायदा मिलता है।

पथरी के इलाज में अंगूर के फायदे  (Benefits of Grapes in Treatment of Stone Problem in Hindi)

काले अंगूर की भस्म को पानी में घोलकर या 40-50 मिली गोखरू काढ़े या 10-20 मिली अंगूर के रस के साथ पिलाने से पथरी नष्ट होती है।8-10 नग मुनक्कों को काली मिर्च के साथ पीसकर पिलाने से पथरी टूट-टूट कर निकल जाती हैं।

पेशाब के दौरान दर्द की समस्या से राहत दिलाती है अंगूर (Grapes uses in UTI Treatment in Hindi)

8-10 मुनक्कों एवं 10-20 ग्राम मिश्री को पीसकर, दही के पानी में मिलाकर पीने से पेशाब करते समय दर्द की समस्या से आराम मिलता है।मुनक्का (12 ग्राम), पाषाणभेद, पुनर्नवामूल तथा अमलतास गूदा (6-6 ग्राम) को जौकुट कर, आधा लीटर पानी में अष्टमांश क्वाथ सिद्ध कर पिलाने से मूत्रकृच्छ्र में लाभ होता है।

अंडकोष बढ़ जाने की समस्या को ठीक करता है अंगूर (Benefits of Grapes in Treatment of Swollen Testicles in Hindi)

कई लोग अंडकोष का आकार बढ़ जाने की समस्या से परेशान रहते हैं उनके लिए अंगूर काफी उपयोगी फल है। इसके लिए अंगूर के 5-6 पत्तों पर घी लगाकर आग पर गर्मकर अण्डकोषों में बांधने से सूजन में कमी आती है।

बेहोशी की समस्या से राहत दिलाए अंगूर (Benefits of Grapes in Unconsciousness in Hindi)

दाख और आँवलों को समान मात्रा में लेकर, उबालकर, पीसकर थोड़ा शुंठी चूर्ण मिलाकर, शहद के साथ चाटने से बुखार में होने वाली बेहोशी में लाभ होता है।25 ग्राम मुनक्का, 12 ग्राम मिश्री, 12 ग्राम अनार की छाल और 12 ग्राम खस को यवकुट कर 500 मिली पानी में रात भर भिगो दें। सुबह इसे छानकर, 3 खुराक बनाकर दिन में 3 बार पिला दें। इसके प्रयोग से बेहोशी में लाभ होता है।100-200 ग्राम मुनक्का को घी में भूनकर थोड़ा सेंधानमक मिलाकर, रोजाना 5-10 ग्राम तक खाने से चक्कर आना बन्द हो जाता है।

रक्तपित्त ( नाक-कान आदि से रक्तस्राव) की समस्या से आराम दिलाता है अंगूर : 

गर्मियों के मौसम में  कई लोगों को नाक-कान से खून बहने की समस्या होती है। अंगूर इस समस्या से आराम दिलाने में बहुत उपयोगी है। रक्तपित्त की समस्या से आराम पाने के लिए इस तरह अंगूर का उपयोग करें।

  • 10 ग्राम किसमिस, 160 मिली दूध तथा 640 मिली पानी, तीनों को धीमी अग्नि पर पकाएं। 160 मिली शेष रहने पर थोड़ी मिश्री मिलाकर सुबह शाम सेवन करें। इसके प्रयोग से रक्तपित्त की समस्या खत्म होती है।
  • 10-10 ग्राम मुनक्का, मुलेठी तथा गिलोय लेकर कूटकर 500 मिली जल में पकाकर काढा बनाएं और 20-30 मिली मात्रा में सेवन करें।
  • 10 ग्राम मुनक्का, 10 ग्राम गूलर की जड़ तथा 10 ग्राम धमासा लेकर इसे कूटकर कर काढ़ा बना लें। 20-30 मिली मात्रा में सेवन करने से रक्तपित्त, दाह, और कफ के साथ खांसने पर खून निकलना आदि रोग जल्दी ठीक हो जाते हैं।
  • अंगूर के 50-100 मिली रस में 10 ग्राम घी और 20 ग्राम खांड मिलाकर पीने से रक्तपित्त में लाभ होता है।
  • मुनक्का और पके गूलर के फल को बराबर-बराबर लेकर पीसकर शहद के साथ सुबह-शाम सेवन करने से रक्तपित्त में लाभ होता है।
  • 1 भाग मुनक्का तथा 1 भाग हरड़ को पानी के साथ पीसकर 200 मिली बकरी के दूध के साथ पिलाएं। इसके प्रयोग से रक्तपित्त में लाभ होता है।
  • अंगूर तथा अमलतास के फलों से निर्मित काढ़ा (20-40 मिली) का सेवन करने से पित्त से होने वाले बुखार में आराम मिलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *